मुख्यमंत्री महिला उत्कर्ष योजना गुजरात|

By | October 10, 2020

मुख्यमंत्री महिला उत्कर्ष योजना गुजरात| Mukhya Mantri Mahila Utkarsh Yojana

महिला उत्कर्ष योजना गुजरात

दोस्तों आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा चलाई गई नई योजना के बारे में बताने जा रहे हैं| मुख्यमंत्री महिला विकास उत्कर्ष योजना के अंतर्गत गुजरात सरकार महिलाओं को ब्याज मुक्त ऋण प्रदान करवाएगी| इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण या शहरी महिलाएं 0% की दर से ₹100000 का ऋण ले सकती हैं| आज हम इस आर्टिकल में हम आपको यही बताएंगे कि किस प्रकार इस योजना का लाभ उठा सकते हैं| और योजना का लाभ उठाने के लिए आपको किस प्रकार के दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी| तो हमारे इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक से पढ़ें|

 मुख्यमंत्री महिला उत्कर्ष योजना

गुजरात सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने के पीछे एक मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देना है| इस योजना के अंतर्गत गुजरात सरकार द्वारा ₹193 का प्रावधान किया गया है| योजना के अंतर्गत महिलाएं 0% पर एक लाख तक का लोन आसानी से प्रदान कर सकती है| ऋण प्राप्त करने के लिए, महिला उत्कर्ष जूथ में शहरी और ग्रामीण महिलाएँ ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगी।इस उद्देश्य के लिए, महिलाएं गुजरात मुख्यमंत्री महिला उत्थान योजना ऑनलाइन आवेदन / पंजीकरण फॉर्म भर सकती हैं। इस योजना का लाभ लेने के लिए लावती किसी विशेष बैंक शाखाओं में अपना फार्म जमा करवाकर इस योजना का लाभ ले सकते हैं|

मुख्मंत्री महिला कल्याण उत्कर्ष योजना

योजना का नाम मुख्मंत्री महिला कल्याण उत्कर्ष योजना
लाभार्थियों राज्य की महिलाएं
द्वारा लॉन्च किया गया सीएम विजय रूपाणी
पंजीकरण की प्रक्रिया ऑनलाइन
वर्ग केंद्रीय सरकार। योजना
उद्देश्य 0% ब्याज ऋण प्रदान करने के लिए
लाभ 1 लाख तक का लोन
सरकारी वेबसाइट gujaratindia.gov.in/

प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर की जाएगी घोषणा

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी इस योजना की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के अवसर पर शुरू करने जा रहे हैं|इस योजना के तहत राज्य के विभिन्न जिलों में कार्यरत सखी मंडलों की महिलाओं को आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास के तहत शून्य प्रतिशत व्याज दर पर लोन दिया जाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का जन्मदिन अर्थात 17 सितंबर को है|इस योजना का फायदा आप 17 सितंबर से लेना शुरू कर सकते हैं| इस योजना के तहत गुजरात के 1 लाख सखी मंडलों (समूहों), जिनमें हर मंडल में 10-10 महिला सदस्य होती हैं, ऐसी 10 लाख महिलाओं को शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण दिया जाएगा, जिससे वे आत्मनिर्भर हो सकें।

योजना के तहत ब्याज दर का भार सरकार उठाएगी

  • इस योजना के तहत सरकार द्वारा 1000 करोड रुपए तक की राशि महिलाओं को देने जा रही है| योजना के तहतमहिलाओं को ऋण के लिए आवश्यक स्टैम्प ड्यूटी में भी छूट दी जाएगी।
  • योजना के अंतर्गत महिलाओं को दिए जाने वाले लोन के ब्याज का सारा भार सरकार उठाएगी|इस योजना के तहत सरकार द्वारा एक महिला समूह की 10 महिलाओं को कुल 1 लाख रुपये का ऋण दिया जाएगा।
  • इस संबंध में राज्य सरकार जल्द ही इस योजना को जोड़ने के लिए बैंकों के साथ एक MOU करेगी।

व्यापार शुरू करने में सक्षम

  • इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को छोटे-बड़े व्यवसाय अथवा गृह उद्योग मैं कि मैं सक्षम बनाएगी| विजय रुपाणी मुख्यमंत्री महिला उत्कर्ष योजना के लिए 175 करोड रुपए का बजट आवंटित किया गया है|
  • राज्य में ग्रामीण क्षेत्रों में 2.51 लाख सखी मंडल दर्ज हैं और उनमें 25.82 लाख ग्रामीण बहनें विविभ प्रवृत्तियां करके आर्थिक आधार प्राप्त करती हैं।
  • इतना ही नहीं, खेती, पशुपालन और डेरी व्यवसाय के साथ जुड़े 1.58 लाख सखी मंडलों की 12 लाख बहनों को परिवार में आय का स्त्रोत उपलब्ध रहता है। छोटे उद्योगों और व्यवसायों में 1.15 लाख बहनें तथा हेन्डीक्राफ्ट के साथ 20 हजार बहनें जुड़ी हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *