[6000₹] उत्तर प्रदेश तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना – यहां आवेदन करें

By | April 4, 2020

उत्तर प्रदेश तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना

दोस्तों आज के इस आर्टिकल माध्यम से हम आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई गई नई योजना जिसका नाम है तीन तलाक योजना के बारे में बताने जा रही है| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है| आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि यह तीन तलाक योजना क्या है| इसके उद्देश्य क्या है और इस योजना के लाभ क्या है| तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा तथा ध्यानपूर्वक पढ़ें|
इस योजना के तहत योगी आदित्यनाथ जी द्वारा पीड़ित महिलाओं को 6000 आर्थिक सहायता दी जाएगी

उत्तर प्रदेश तीन तलाक योजना 

उत्तर प्रदेश तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना

उत्तर प्रदेश तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना

 

Update -दोस्तों आज के इस आर्टिकल माध्यम से हम आपको उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई गई नई योजना जिसका नाम है तीन तलाक योजना के बारे में बताने जा रही है|उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा इस योजना की शुरुआत की गई है| इस योजना के तहत जो महिलाएं तीन तलाक से पीड़ित हुई है| उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ₹6000 सालाना मदद दी जाएगी| इस योजना उद्देश्य क्या है और इस योजना के लाभ क्या है| तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा तथा ध्यानपूर्वक पढ़ें|

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा इस योजना की शुरुआत की गई है| इस योजना के तहत जो महिलाएं तीन तलाक से पीड़ित हुई है| उन्हें उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ₹6000 सालाना मदद दी जाएगी| तथा उनके बच्चों की पढ़ाई में सरकार पूरी मदद करेगी| और नौकरी के लायक महिलाओं को सरकार द्वारा जल्दी नौकरी के लिए कोई योजना बनाई जाएगी| जिससे तीन तलाक पीड़ित महिलाएं कुछ हद तक आर्थिक मजबूत हो पाए| इसी को मद्देनजर रखते हुए योगी आदित्यनाथ जी द्वारा इस योजना की शुरुआत दी गई है|

इस योजना के तहत जिन महिलाओं के पास रहने के लिए घर नहीं है| उन्हें आवास, अभी पढ़ाई कर कर सरकार द्वारा दिया जाएगा| उन्हें स्कॉलरशिप और आयुष्मान योजना के तहत स्वास्थ्य कवर उपलब्ध कराया जाएगा| इस योजना के तहत योगी आदित्यनाथ जी का कहना है कि पिछले वर्ष यूपी में तीन तलाक के 273 मामले यूपी के सामने आए थे| आदित्यनाथ जी का कहना है कि जब तक इन महिलाओं को इंसाफ नहीं मिल जाता तब तक सरकार द्वारा चलाना ₹6000 उन महिलाओं को दिए जाएंगे| और योगी आदित्यनाथ जी का यह कहना भी है कि तीन तलाक की योजना से पीड़ित महिलाओं की सहायता के लिए एक छोटा सा प्रयास सरकार द्वारा किया जा रहा है|

तीन तलाक पीड़ित योजना का उद्देश्य

  • तीन तलाक पीड़ित महिलाएं जो इसकी शिकार है, उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी ना हो इसने यह रकम उन्हें प्रदान करवाई जा रही है|
  • तथा पढ़ी-लिखी महिलाओं की अजीब सा सरकार द्वारा करवाई जा रही है|
  • एक मुस्लिम कुप्रथा थी इसे सुप्रीम कोर्ट ने बिल्कुल पूरी तरह से खत्म कर दिया है|
  • यह सरकार की एक बहुत बड़ी जीत है|
  • आदित्यनाथ जी का कहना है कि जिन पीड़ित महिलाओं द्वारा एफ आई आर दर्ज करवाई गई है|
  • उन महिलाओं को के केस लड़ने की व्यवस्था सरकार द्वारा करवाई जाएगी|
  • क्योंकि तीन तलाक होने पर उस महिला को घर से बाहर निकाल दिया जाता है| जिससे मैं कोर्ट कचहरी के खर्चे नहीं उठा पाएगी| इसी को मद्देनजर रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार उस पीड़ित महिला का पूरा साथ देंगे|

तीन तलाक अनुदान योजना के लाभ

  • पीड़ित महिलाओं को सरकार द्वारा ₹6000 सालाना आर्थिक मदद दी जाएगी|
  • इस योजना के तहत पीड़ित महिला का केस निशुल्क लड़ा जाएगा|
  •  किसी भी धर्म के व्यक्ति यदि एक पत्नी के होते हुए दूसरी शादी करता है तो उसे कार्रवाई की जाएगी|
  • इस योजना के तहत पीड़ित महिलाओं को नौकरी पाने के लिए सरकार द्वारा पूरी मन करवाई जाएगी|
  • पीड़ित महिला के परिवार के बच्चों को निशुल्क पढ़ाई की सुविधा सरकार द्वारा प्रदान की जाएगी|
  •  प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत ज्ञापन मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत आवास दिया जाएगा|

You May Like –हरियाणा मनोहर ज्योति योजना 2019| ऑनलाइन आवेदन एप्लीकेशन फॉर्म

 

उत्तर प्रदेश तीन तलाक पीड़ित अनुदान योजना ऑनलाइन आवेदन

  • दोस्तों अभी तक सरकार द्वारा ऑनलाइन आवेदन शुरू नहीं किया है|
  • परंतु जल्द ही शुरू कर दिया जाएगा| जब ऑनलाइन आवेदन आता है तो हम आपको जरूर अपडेट करवा देंगे|

दोस्तों आज हमने आपको तीन तलाक अनुदान योजना के बारे में बताया इस योजना से संबंधित यदि कोई भी प्रश्न आपके मन में है| आप हमसे नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं| हम आपके प्रश्नों की आवश्यकता देने की कोशिश करेंगे| धन्यवाद

विभिन्न होटलों में होटल की नौकरी की शुरुआत – यहां आवेदन करें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *